Join WhatsApp Group Join Now

Join Telegram Channel Join Now

Avalanche in Garhwal: उत्तराखंड के गढ़वाल में हिमस्खलन की घटना सामने आई है शुरुआती रिपोर्ट में बाद में कई लोगों के मारे जाने की बात सामने आई है।

मुख्य बातें

द्रौपदी का डांडा-2 पर्वत चोटी में हिमस्खलन होने से करीब 28 पर्वतारोही फंस गए

अब तक 21 ट्रैकर्स फंसे हुए हैं, राहत-बचाव कार्य में सेना को लगाया गया है

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने हादसे में लोगों के मारे जाने पर दुख जताया है

Avalanche in Garhwal : उत्तराखंड के उत्तरकाशी में हिमस्खलन की घटना सामने आई है। शुरुआती रिपोर्टों में इस प्राकृतिक विपदा में फंसे आठ ट्रेनी पर्वतारोहियों को निकाल लिया गया है जबकि अभी 21 ट्रैकर्स फंसे हुए हैं। इन्हें सुरक्षित बाहर निकालने के लिए राहत एवं बचाव कार्य चलाया जा रहा है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने ट्वीट में कहा है कि इस हादसे में मौत होने की जानकारी मिलने पर उन्हें गहरा दुख पहुंचा है।उन्होंने कहा कि उनकी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से बात हुई है।

बचाव में उतरी सेना

रक्षा मंत्री ने कहा है कि उन्होंने राहत एवं बचाव कार्य चलाने के लिए वायु सेना को निर्देश दिया है। रक्षा मंत्री ने कहा कि वह सभी लोगों की सुरक्षा के लिए प्रार्थना करते हैं। सीएम धामी ने कहा है कि रक्षा मंत्री से उनकी बात हुई है। राहत एवं बचाव अभियान में तेजी लाने के लिए सेना की मदद लेने हेतु अनुरोध किया है, जिसको लेकर उन्होंने हमें केंद्र सरकार की ओर से हर सम्भव सहायता देने के लिए आश्वस्त किया है। सभी को सुरक्षित निकालने हेतु रेस्क्यू अभियान चलाया जा रहा है।

सीएम धामी ने किया ट्वीट

सीएम धामी ने अपने ट्वीट में कहा है कि द्रौपदी का डांडा-2 पर्वत चोटी में हिमस्खलन होने के कारण नेहरू पर्वतारोहण संस्थान, उत्तरकाशी के 28 प्रशिक्षार्थियों के फंसे होने की सूचना प्राप्त हुई है।

Join WhatsApp Group Join Now

Join Telegram Channel Join Now

चॉपर भी आए भूस्खलन की चपेट में

ट्रैकर्स को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए एसडीआरएफ की टीमें देहरादून से रवाना हो गई हैं। समाचार एजेंसी एएनआई ने आईएएफ अधिकारियों के हवाले से कहा है कि पर्वतारोही टीम को बचाने में तैनात आईएएफ के दो चीता हेलिकॉप्टर भी भूस्खलन की चपेट में आए हैं। अन्य जरूरतों के लिए अन्य हेलिकॉप्टर को स्टैंडबॉय मोड पर रखा गया है।

उत्तरकाशी के जिला आपदा प्रबंधन सेंटर का कहना है कि हिमस्खलन में अभी 21 और लोगों के फंसे होने की आशंका है। इन्हें निकालने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। अब तक आठ ट्रेनी पर्वतारोहियों को सुरक्षित निकाल लिया गया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top